32 बिट और 64 बिट प्रोसेसर जानें कौन है ज्यादा बेहतर 32 And 64 Bit Processor, Who Is Better

32 बिट और 64 बिट प्रोसेसर 32 Bit And 64 Bit Processor-

कम्प्यूटर और लेपटाप का इस्तमाल हम सभी करते हैं मगर उसके कई टक्नीकल टर्म के बारे में हमें पूरा ज्ञान नहीं होता है। क्या आप जानते हैं कम्प्यूटर में 32 बिट और 64 बिट प्रोसेसर(32 Bit and 64 Bit Processor) में कितना अन्तर होता है? इस तरह के कम्प्यूटर का इस्तमाल आपके लिए कैसा होगा? इन कम्प्यूटर की ऑपरेटिंग स्पीड कितनी होगी। इस तरह के अन्त कई सवालों के जबाब हम आपको अपने इस पोस्ट में देने की कोशिश करेंगे।

32 बिट प्रोसेसर का कहां होता है प्रयोग About 32 Bit Processor-

सन् 1990 तक 32 बिट प्रोसेसर को सभी कम्प्यूटर्स में प्रमुखतया से प्रयोग किया जाता था। 32 बिट प्रोसेसर(32 Bit Processor) में कार्य करने वाला कंप्यूटर 32 बिट्स चौड़ी डाटा यूनिट्स में काम करता है। बिन्डो 95(windows 95), 98(windows 98) और एक्सपी(windows XP) ये सभी 32 बिट ऑपरेटिंग सिस्टम हैं, जो 32 बिट वाले प्रोसेसर में आमतौर पर कार्य करते हैं। जाहिर सी बात है 32 बिट प्रोसेसर पर कार्य करने वाले कम्प्यूटर पर 64 बिट वर्जन का ऑपरेटिंग सिस्टम को इनंस्टाल नहीं किया जा सकता।

64 बिट प्रोसेसर का कहां होता है प्रयोग About 64 Bit Processor-

64 बिट कम्प्यूटर(64 Bit Computere) सन् 1961 से बाजार में आया जब IBM7030 ने स्ट्रेच सुपरकम्प्यूटर पेश किया। हालांकि इसका इस्तमाल सन् 2000 से चलन में आया। माइक्रोसॉफ्ट(Microshoft) ने विंडोज एक्सपी(Windows XP) का 64 बिट(64 Bit) वर्जन को पेश किया था, जिसे 64 बिट प्रोसेसर(64 Bit Processor) के साथ प्रयोग किया जा सकता था। विंडोज विस्टा(Windows Vista), विंडोज 7(Windows 7) और विंडोज 8(Windows 8) भी 64 बिट वर्जन में आती है। 64 बिट पर आधारित कम्प्यूटर 64 बिट डाटा यूनिटस पर कार्य करता है। 64 बिट प्रोसेसर में कार्य करने वाले कम्प्यूटर पर 64 या 32 बिट वर्जन के किसी भी आपरेटिंग सिस्टम को इनंस्टाल किया जा सकता है। हालांकि, 32 बिट आपरेटिंग सिस्टम के साथ 64 बिट प्रोसेसर ठीक से कार्य नहीं कर पाएगा।

32 बिट और 64 बिट प्रोसेसर में क्या है अन्तर Difference Between 32 Bit And 64 Bit-

1:   32 बिट और 64 बिट (32 Bit and 64 Bit Difference) प्रोसेसर में सबसे बडा अन्तर यह है। कि वह प्रति सेकेन्ड कितनी तेजी से कितनी गणना कर सकते है। इससे टास्क पूरा होने की स्पीड पर फर्क पडता है।

2:   64 बिट प्रोसेसर्स होम कंप्यूटिंग के लिए ड्यूल कोर(Dual Core), क्वैड कोर(Quad Core), सिक्स कोर(Six Core) और आठ कोर(Eight Core) वर्जन पर आ सकते हैं। मल्टीपल कोर होने से प्रति सेकंड गणना करने की स्पीड में इजाफा होता है। इससे कंप्यूटर की प्रोसेसिंग पावर बढ़ सकती है और कंप्यूटर फ़ास्ट काम कर सकता है। जिन सॉफ्टवयेर प्रोग्राम्स को कार्य करने के लिए एक ही समय पर कई गणनाएं करनी होती हैं. वो 64 बिट प्रोसेसर पर बेहतर कार्य करते हैं।

3:   32 बिट और 64 बिट प्रोसेसर में दूसरा बड़ा अंतर रैम सपोर्ट करने को लेकर है। 32 बिट कंप्यूटर अधिकतम 3 से 4 GB रैम सपोर्ट करते हैं। वहीं 64 बिट कंप्यूटर 4GB से अधिक रैम को भी सपोर्ट करते हैं। यह फीचर ग्राफिक डिजाइन(Graphic Design), इंजीनियरिंग(Engineering) और वीडियो एडिटिंग(Video Editing) जैसे प्रोग्राम्स में महत्वपूर्ण होता है।

32 बिट और 64 में आपके लिए कौन है ज्यादा बेहतर Who Is Better In 32 Bit And 64 Bit-

64 बिट प्रोसेसर्स अब होम कम्प्यूटर में भी काफी चलन में आ गये हैं। और अधिकतर यूजर्स इसका ही इस्तमाल करते हैं। यह भी कहा जा सकता है कि टेक्नलाजी के बढते बिस्तार के दौर में 32 बिट अब पुराना हो गया है। क्योंकि अधिकतर यूजर्स अब 64 बिट का ही इस्तमाल करने की वरियता देते हैं। इसीलिए मैन्युफैक्चरर भी इसे बजट कीमत में पेश करने लगे हैं। आने वाले समय में 32 बिट का इस्तमाल लगभग बन्द ही होने वाला है। ऐसे में जाहिर है कि आपके लिए 64 बिट पर आधारित कम्प्यूटर लेना ही बेहतर होगा।

error: